Astro Solutions...
+91-9811406474

Vatu
घर में सकारात्मक और खुशहाल माहौल के लिए अपनाएं ये वास्तु टिप्स

यदि आप भी इन वास्तु टिप्स को अपनाते हैं, तो आपके घर में भी सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा। हर व्यक्ति की चाहत होती है कि घर में शांत और खशी का माहौल हो। मगर, कई बार आपने देखा होगा कि सबकुछ अच्छा होते हुए भी घर में मानसिक शांति नहीं मिलती। परिवार के सदस्यों के बीच बिना किसी बात के मन-मुटाव या तनाव हमेशा बना रहा है। अगर, आपको इसका कोई कारण समझ में नहीं आता है, तो हम आपको बता दें कि इसकी वजह वास्तु संबंधी दोष हो सकते हैं। वास्तु शास्त्र में प्रकृति की पांच प्राथमिक शक्तियों पृथ्वी, अग्नि, वायु, जल और वायु की शक्ति को देखा जाता है। वास्तु शास्त्र का मुख्य मकसद सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाना और मानव जीवन को ऊंचा उठाना है। यदि आप भी इन वास्तु टिप्स को अपनाते हैं, तो आपके घर में भी सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा। उत्तर-पूर्व दिशा के बीच में एक मनी प्लांट या बांस का पेड़ लगाने से न केवल सकारात्मक आभा घर में बनेगी, बल्कि आपको आर्थिक रूप से भी यह मजबूत करेगा। दक्षिणी-पश्चिमी दिशा में लकड़ी के पीले या गोल्डन फ्रेम में परिवार की तस्वीर लगाने से परिवार के लोगों के बीच संबंध अच्छे बने रहते हैं। पूर्व दिशा में उगते हुए सूरज की पेंटिंग रखने से आप अपने सामाजिक संबंधों को बढ़ा सकते हैं। प्रवेश द्वार पर गणेश की मूर्ति या तस्वीर लगाने से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। उत्तर-पूर्व दिशा में सीनरी लगाने से आपको अच्छी योजनाएं बनाने में मदद मिलेगी।

घर में दरवाजे और खिड़कियां की संख्या को सम यानी 2, 4, 6, 8... में रखने की कोशिश करें। पढ़ाई-लिखाई में बेहतर प्रदर्शन के लिए पूर्व की दिशा में बच्चों की टेबल रखें। अक्सर लोग चीजों को बिस्तर या गद्दे के नीचे रखते हैं। गैर-जरूरी चीजों को वहां से हटा दें क्योंकि ये आप पर भार बनाती हैं और आगे बढ़ने से रोकती हैं। बेडरूम की दीवारों पर गहरे रंग का इस्तेमाल नहीं करें, कमरे को अच्छी तरह से रोशन रखें। सकारात्मकता लाने के लिए बाथरूम में मोमबत्तियों या हरे पौधों रखें। पत्नी को हमेशा पति के बाईं तरफ सोने चाहिए और बिस्तर पर सिर्फ एक ही गद्दे का उपयोग करें। घर का पूर्वोत्तर कोना पूजा-पाठ करने के लिए सबसे शुभ दिशा है। गोल्डन फिश (Golden Fish)

फेंगशुई की मान्यता है कि घर में मछलियां रखने से सौभाग्य बढ़ता है। ये धन, मान-सम्मान में वृद्धि करने का एक कारगर उपाय है। गोल्डन फिश अपने शयनकक्ष, रसोईघर अथवा शौचघर में कभी न रखें। मछली घर को अपने ड्रॉइंगरूम में रखें।

बिना तोड़-फोड़ के वास्तु दोष दूर करने के वास्तु उपाय:

तमाम एहतियात के बावजूद कई बार घर में बिना वजह के तनाव व लड़ाई-झगड़ा बना रहता है। आपसी रिश्तों में कड़वाहट और उदासीनता-सी रहती है। अन्य कारणों के अलावा वास्तु दोष के कारण भी ऐसा हो सकता है। एक सुंदर एवं दोषमुक्त घर हर व्यक्ति की कामना होती है। किंतु वास्तु विज्ञान के पर्याप्त ज्ञान के अभाव में भवन निर्माण में कुछ अशुभ तत्वों तथा वास्तु दोषों का समावेश हो जाता है। फलतः गृहस्वामी को विभिन्न आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक कष्टों का सामना करना पड़ता है। घर के निर्माण के बाद फिर से उसे तोड़कर दोषों को दूर करना कठिन होता है। ऐसे में हमारे ऋषि-मुनियों ने बिना तोड़-फोड़ किए इन दोषों को दूर करने के कुछ उपाय बताए हैं। आइये जानते हैं उन उपायों के बारे में। * अपने घर के उत्तरकोण में तुलसी का पौधा लगाएं। * ईशान का कोना हमेशा स्वच्छ व खाली रखना चाहिए। ध्यान रहे, यहां शौचालय किसी भी हालत में नहीं हो। घर में अग्नि का स्थान वास्तुसम्मत दिशा में होना चाहिए। अग्नि का स्थान आग्नेय कोण है, अतः रसोईघर यथासंभव घर के दक्षिण-पूर्व दिशा में बनाना चाहिए। चूल्हा उत्तर-पूर्व दिशा में नहीं होना चाहिए। * यदि घर में पानी का फ्लो ठीक न हो या पानी की सप्लाई सही दिशा से न हो, तो उत्तर-पूर्व दिशा से यानी ईशान कोण से भूमिगत पानी की टंकी का निर्माण कर उसी से घर में पानी की सप्लाई करें। ऐसा करने से यह वास्तु दोष दूर हो जाएगा और पानी की ग़लत दिशा से सप्लाई भी बंद हो जाएगी। * किचन के दरवाज़े के ठीक सामने बाथरूम का दरवाज़ा हो, तो यह नकारात्मक ऊर्जा देगा। इस दोष से बचने के लिए बाथरूम या किचन के बीच में एक कपड़े का परदा या किसी अन्य प्रकार का पार्टिशन खड़ा कर सकते हैं, ताकि किचन से बाथरूम दिखाई न दे। * दरवाज़ों के कब्जों में तेल डालते रहें, वरना दरवाज़ा खोलते या बंद करते समय आवाज़ आती है, जो वास्तु के अनुसार अशुभ व नुक़सानदायक होती है। * हल्दी को जल में घोलकर एक पान के पत्ते की सहायता से अपने सम्पूर्ण घर में छिडकाव करें। इससे घर में लक्ष्मी का वास तथा शांति भी बनी रहती है। * घर में सफाई हेतु रखी झाडू को रस्ते के पास नहीं रखें। यदि झाडू के बार-बार पैर का स्पर्थ होता है, तो यह धन-नाश का कारण होता है। झाडू के ऊपर कोई वजनदार वास्तु भी नहीं रखें। * फेंगशुई में कछुए को शुभ माना जाता है। इसे घर में रखने से धन-दौलत व सुख-समृद्धि बनी रहती है। इसे अपने घर या ऑफिस की उत्तर दिशा में रखें। ध्यान रहे, कछुए को जब भी रखें, तो उसका चेहरा अंदर की ओर होना चाहिए, तभी दिशा शुभ होगी। इसे कभी जोड़े में न रखें। * मानसिक शांति के लिए चंदन की अगरबत्ती जलाएं। इससे मानसिक बेचैनी कम हो जाती है।

Archives

Skip Navigation Links.